देवर ने पूछा, “भाभीजी, क्या मैं आपकी गांड की तेल मालिश कर दूं?”

169

दुबला पतला बदन भाभी अपना पेटीकोट ऊपर उठाकर गांड खोलकर घोड़ी बनी हुई है. उसी के बाजू में उसका देवर बैठा हुआ है. भाभी की हरकत देख वह उसे पूछता है, “क्या मैं आपकी गांड की तेल मालिश कर दूं?” इस पर भाभी उसे हां बोलती है.

देवर तेल की बोतल लेता है और भाभी की गांड पर उड़ेल लेता है. फिर वह उसके चूतड़ों की मालिश करने लगता है. भाभी की चूत भी तेल से चमकने लगती है. जब देवर उसकी गांड में उंगली करने लगता है तब वह इतराने लगती है.

वह पलटकर सीधी लेटती है और अपनी दोनों टांगे बेशर्म की तरह खोल देती है. इससे उसकी चूत और गांड का छेद दोनों सामने आ जाते हैं. देवर उन दोनों की अच्छे से मालिश करता है. फिर अपने लंड से वो उसकी मस्त चुदाई करता हैं. दोनों को गंदी बातें सुनकर आपको मजा भी आएगा.