मशरूम जैसा लंड चूसने से मैं खुद को रोक नहीं पाई

417

परसों मैं क्लीनिक गई थी. वहां लाउंज में बैठकर मैं इंतजार कर रही थी. इतने में मेरे पास बैठे आदमी ने अपने जींस में से अपना लौड़ा बाहर निकाला और वह धीरे-धीरे उसे सहलाने लगा. मेरी नजर उस पर पड़ी मैं तो उस लंड की खूबसूरती देखकर दंग रह गई. मेरे पति का भी इतना सुंदर लंड नहीं है. मशरूम जैसा फुला हुआ टोपा और वक्राकार लोड़ा मुझे बहुत पसंद आया. वह आदमी भी मुझे लंड दिखाकर ललचा रहा था.

मैं खुद को रोक ना सकी और धीरे-धीरे आगे बढ़ी. मैंने उसका लौड़ा थाम लिया और टोपा मुंह में डाला. मैं टोपा चूसने लगी. क्या बताऊं उसका स्वाद मुझे बहुत पसंद आया. चटखारे ले लेकर मैंने उसे चुस डाला.