साड़ी उठाकर भतीजे के खड़े लंड पर बैठकर चुदी देहाती चाची

199

चाचा किसी काम के लिए शहर गए हुए थे. चाची घर में अकेली थी. अकेलेपन से उसे डर लगता था. इसलिए उसने अपने भतीजे को सोने के लिए घर बुलाया.

भतीजा आया और दोनों साथ में लेट गए. दोनों बातें करने लगे. बातों बातों में चाची नॉटी हो गई और उसने उसके गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा. फिर संभाषण आगे बढ़ा और उसने उसके लैंगिक संबंधों के बारे में भी पूछ लिया. इस पर भतीजे ने कहा कि उसे उसका कोई अनुभव नहीं है.

फिर चाची बोली, “चलो मैं ही तुम्हें चोदना सिखाती हूं.” ऐसा कहकर उसने भतीजे की पैंट अंडरवियर के साथ नीचे सरकाई. उसका लंड हिलाकर खड़ा किया. फिर उसने अपनी चड्डी उतारी और साड़ी ऊपर उठाकर वह भतीजे के ऊपर सवार हो गई. भतीजे का लंड चाची की चूत में चला गया और चाची धीरे-धीरे ऊपर नीचे होकर उसे चोदना सिखाने लगी.